top of page

केजरीवाल ने 2015 से अब तक 37,770 करोड की जनता से लूट की


दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की जनता के खून पसीने और मेहनत की गाढ़ी कमाई को अनेक तरह के टैक्स और सरचार्ज लगाकर लूटा है।



नई दिल्ली: भारतीय जनता पार्टी ने केजरीवाल सरकार को जनविरोधी करार देते हुए कहा कि 2015 से अब तक दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की जनता के खून पसीने और मेहनत की गाढ़ी कमाई को अनेक तरह के टैक्स और सरचार्ज लगाकर लूटा है।


केजरीवाल सरकार पर शब्द रूपी तीखा हमला करते हुए कहा कि दिल्ली की केजरीवाल सरकार ने दिल्ली की जनता से बिजली फ्री का झांसा देकर 2015 से लेकर अब तक 14257 करोड रुपए बिजली के मीटरों पर फिक्स चार्ज लगाकर अभी तक दिल्ली की जनता से अवैध रूप से वसूले हैं।


दिल्ली की आप सरकार रोजाना नए झूठ और प्रपंच करके दिल्ली की जनता को गुमराह करती रही है जबकि हकीकत यह है कि फिक्स चार्ज के साथ-साथ पेंशन सर चार्ज 2329 करोड रुपए वसूल कर चुकी है | जनता की जेब पर डाका कैसे डाला जाता है इसका उदाहरण अब जनता के सामने है | सब्सिडी देने के बाद भी बिजली कंपनियों का ऑडिट कराए बगैर ही केजरीवाल सरकार ने बिजली कंपनियों के घाटे के नाम भी खूब लूट मचाई और दिल्ली की जनता से 7777 करोड़ रुपए आर ए चार्ज लगाकर वसूल किये है।


अब जनता को तय करना है कि जनता की कमाई पर नजर गड़ाए बैठी निकम्मी सरकार को उखाड़ फेंकना होगा | आम आदमी पार्टी की केजरीवाल सरकार इलेक्ट्रिसिटी टेक्स के नाम पर भी दिल्ली की जनता से 5607 करोड रुपए अनैतिक तरीके से वसूले हैं।


यही नहीं यह घोटाला इतना बड़ा है कि घोटाले को शर्म आ जाए किंतु केजरीवाल सरकार को शर्म नहीं है | पीपीएसी चार्ज के नाम पर भी जनता से खूब लूट हुई है जिसकी धनराशि ₹3900 करोड़ रूपये है। कुल मिलाकर 2015 से अभी तक यह केजरीवाल सरकार दिल्ली की जनता की गाढ़ी कमाई जिसकी कुल राशि 3770 करोड़ रूपये बनती है उसकी लूट चुकी है। आखिर यह पैसा किसकी जेब में गया इसकी निष्पक्ष जांच होनी चाहिए और बिजली कंपनियों का ऑडिट सीएजी द्वारा किया जाना चाहिए तभी केजरीवाल सरकार का असली चेहरा जनता के सामने उजागर होगा |


コメント


bottom of page