top of page

दिल्ली में निर्माणाधीन इमारत गिरी, पांच मजदूरों के फंसे होने की आशंका

सूचना मिलने के बाद दमकल की छह गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। दिल्ली दमकल सेवा ने कहा कि मलबे में पांच मजदूरों के फंसे होने की आशंका है।

नई दिल्ली: दिल्ली के सत्य निकेतन इलाके में एक निर्माणाधीन इमारत सोमवार को ढह गई। सूचना मिलने के बाद दमकल की छह गाड़ियां मौके पर पहुंचीं। मकान ढहने के दौरान मरम्मत का काम चल रहा था।


दिल्ली दमकल सेवा के निदेशक अतुल गर्ग बताया, "हमें दोपहर करीब 1:24 बजे यहां सत्य निकेतन भवन संख्या 173 में एक घर गिरने की सूचना मिली। दमकल की छह गाड़ियां मौके पर भेजी गई हैं।" उन्होंने कहा कि पांच मजदूर मलबे में फंसे हुए हैं और उन्हें बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं। पुलिस ने कहा कि उनकी टीम भी मौके पर है और बचाव अभियान में मदद कर रही है।


"यह किसी का घर था जो इसकी मरम्मत करवाना चाहता था। हमने 31 मार्च को एक नोटिस चिपकाया था कि इमारत खतरे के क्षेत्र में है। हमने 14 अप्रैल को पुलिस, एसडीएम को भी सूचित किया। मेरी जानकारी के अनुसार, अंदर 2-3 लोग फंसे हुए हैं," मुकेश सूर्यन, मेयर एसडीएमसी।


यह घटना दिल्ली के कश्मीरी गेट में एक और निर्माणाधीन इमारत के गिरने के एक महीने बाद की है, जिसमें तीन कर्मचारी घायल हो गए थे। आठ लोगों के अलावा, 25 अन्य भी पास की दुकानों में काम कर रहे थे या राहगीर थे। वे भी मलबे में दब गए। पुलिस उपायुक्त (डीसीपी) उत्तर सागर सिंह कलसी ने बताया कि इन सभी को निवासियों ने खाली करा लिया था।


हाल के दिनों में, दिल्ली-एनसीआर क्षेत्र में इमारत ढहने की घटनाएं हुई हैं। 10 फरवरी को गुरुग्राम के सेक्टर 109 में एक कॉन्डोमिनियम में छठी मंजिल के फ्लैट की छत गिरने से दो लोगों की मौत हो गई थी, जिससे कमरे के नीचे की सभी मंजिलें धंस गई थीं। घटना 18-मंजिल ईमारत चिनटेल्स पारादीसो टॉवर - डी के एक फ्लैट में हुई थी। जिस समय हादसा हुआ उस वक्त फ्लैट का मालिक रेनोवेशन का काम कर रहा था।

Comentários


bottom of page