top of page

दिवंगत सीडीएस जनरल बिपिन रावत के भाई कर्नल (रि०) विजय रावत बीजेपी में शामिल

उत्तराखंड चुनाव: उत्तराखंड में पैदा हुए जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 12 अन्य लोगों की पिछले महीने तमिलनाडु के कुनूर में हेलीकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने से मौत हो गई थी।

image source: scroll.in

नई दिल्ली: भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ जनरल बिपिन रावत, के भाई कर्नल ((रि०) विजय रावत, राज्य चुनावों से पहले उत्तराखंड में आज भाजपा में शामिल हो गए। जनरल बिपिन रावत का पिछले महीने हेलीकॉप्टर दुर्घटना में निधन हो गया था।


"मेरे पिता (जनरल लक्ष्मण सिंह रावत) सेना से रिटायर होने के बाद, भाजपा के साथ थे। अब मुझे एक अवसर मिला है। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी का दृष्टिकोण बहुत खास है। उनका सारा काम इस देश की प्रगति के लिए है। इसी ने मुझे भाजपा में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया। उत्तराखंड के लिए उनकी योजना एक महान दृष्टि का परिणाम है," कर्नल विजय रावत ने कहा।


उत्तराखंड में पैदा हुए जनरल बिपिन रावत, उनकी पत्नी और 12 अन्य लोगों की पिछले महीने तमिलनाडु के कुनूर में हेलिकॉप्टर के दुर्घटनाग्रस्त होने से मौत हो गई थी। एक जांच दल ने अपने शुरुआती रिपोर्ट्स में कहा, "घाटी में मौसम की स्थिति में अचानक बदलाव के इस दुर्घटना का कारण बनी।"


कर्नल रावत का पार्टी में स्वागत करते हुए मुख्यमंत्री धामी ने उनके भाई को याद किया और कहा, "जनरल रावत उत्तराखंड में और अधिक काम करना चाहते थे। हमें खुशी है कि उनके भाई हमारे साथ जुड़ गए है। मैं खुश हूं क्योंकि मैं भी एक सैनिक का बेटा हूं। जब से हमने जनरल रावत को खोया है तब से हम एक खालीपन महसूस करते हैं पर उनके भाई अब हमारे साथ है।"


जनरल रावत को 2019 में भारत के पहले चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के रूप में नियुक्त किया गया था। उन्होंने तीन साल सेनाध्यक्ष के रूप में कार्य किया।


मुख्यमंत्री ने कहा कि कर्नल विजय रावत, जिनका बेटा भी सेना में है, उन्होंने 34 साल की सेवा के दौरान पूरे भारत में कई पदों पर काम किया है। उन्होंने कहा, "परिवार की तीन पीढ़ियां सेना में हैं। हम उनका स्वागत करते हैं। हमने हमेशा सेना के लिए काम किया है।"


राज्य में 14 फरवरी को मतदान होंगे और नतीजे 10 मार्च को आएंगे। भाजपा जहां राज्य में फिरसे सरकार बनाने की कोशिश में है , वहीं कांग्रेस और अरविंद केजरीवाल की आप पार्टी दावेदार हैं।


Comentarios


bottom of page